-->

Kahaniya in Hindi - Hindi Stories for kids

Hindi Stories for Kids:-


बच्चो इस पेज पर आपको बच्चो कि कहानियाँ मिल जाएगी जिनका एक छोटा हिस्सा यहाँ लिखा गया है आपको जो भी कहानी पसंद आये उसके अंत में आगे पढ़े लिखा होगा उस पर क्लिक कर देना वही कहानी पूरी हो जाएगी तो चलिए कहानियो का मजा लेते है



एक बार बादशाह अकबर बीरबल के साथ भाग में घूम रहे थे। हंसी मजाक चल रहा था। तभी अकबर ने अचानक जमीन पर पड़ा हुआ एक लकड़ी का टुकड़ा देखा। अकबर के मन में मजाक करने की आई। अकबर ने बीरबल को कहा कि बीरबल क्या तुम एक लकड़ी के टुकड़े को तोड़े बिना छोटा कर सकते हो? आप पढ़ रहे है अकबर बीरबल की कहानियाँ आगे पढ़े.....

बीरबल अकबर के बहुत प्रिय मंत्री थे। वह ईश्वर में विश्वास रखने वाला तथा आस्था रखने वाला एक इंसान था वह नित्य कहा करता था कि भगवान जो करते हैं, अच्छा करते हैं। वह मनुष्य के हित में होता है परंतु उसकी इसी बात से उसके साथी मंत्री गण खुश नहीं थे। एक दिन दरबार में एक मंत्री रोता हुआ आया और उसने कहा कि आज मेरी उंगली कट गई। क्या इस बात में भी तुम्हें कुछ अच्छा नजर आता है।   आगे पढ़े.....




एक दिन राजा अकबर अपने दरबार में अपने मंत्रियों और सेनापति तथा आम लोगों के साथ में बैठा हुआ था। परंतु उसके दरबार में उस दिन बीरबल नहीं था। यह मौका पाकर उसके सभी मंत्री अपनी अपनी अकल मंदी का परिचय देने लगे और कहने लगे कि आप बीरबल से कुछ ज्यादा ही प्रेम करते हैं। उसकी कुछ ज्यादा ही प्रशंसा करते हैं। आगे पढ़े ...





1 दिन बादशाह अकबर के महल में एक आदमी आया और महाराज से विनती करने लगा कि महाराज मुझे कोई नौकरी दे दो तो उसको दुखी देखकर महाराज अकबर ने उसे नौकरी दे दी उसे चुंगी का अधिकारी बना दिया चुंगी एक प्रकार का कर होता था जो बहुत पहले लगा करता था यह सब देख कर, बीरबल बोले महाराज मुझे यह आदमी ठीक नहीं लग रहा यह बहुत चालाक दिखाई देता है उसे चुंगी अधिकारी नहीं बनाना चाहिए था आगे पढ़े...



तीन सवाल

बच्चों जैसे की आप सभी को पता ही है बीरबल बहुत चालाक व्यक्ति था लेकिन राजा के दरबार में कुछ लोग उससे ईर्ष्या करते थे। 1 दिन कुछ लोग राजा से बोले कि बीरबल चलाक नहीं यदि वह हमारे तीन प्रश्नों का जवाब दें तो हम उसे चलाक समझेंगे नहीं तो उसे अपनी नौकरी को छोड़ना पड़ेगा इस पर राजा ने बीरबल से पूछा बताओ बीरबल क्या तुम्हें यह सवाल मंजूर है बीरबल ने कहा ठीक है महाराज सवाल पूछो तो लोगों ने पूछा आगे पढ़े...



आजादी का महत्व - तोते की कहानी HIndi Kahaniyan

किसी जंगल में एक तोता रहता था। वह बहुत मिलनसार था। जंगल में उसके अनेक मित्र थे। वह अपने मित्रों के साथ नए-नए खेल खेलता था। उसके सब मित्र उसके साथ खुश रहते थे। रोज़ सुबह उसके घर के पास सारे पक्षी इकट्ठे हो जाते। तोते के आने के बाद सब लंबी सैर को निकल जाते। तोते का कहना था कि हमें रोज़ सुबह सैर करनी चाहिए. इससे हमारा स्वास्थ्य अच्छा रहता है। आगे पढ़े...



महाभारत के अनसुने किस्से कहानियाँ

एक बार धर्मराज युधिष्ठिर ने बड़े विधि विधान से एक महायज्ञ का आयोजन किया यह पूरा होने के बाद उसमें दूध की आहुति दी गई लेकिन आकाश से घंटियों की आवाज नहीं सुनाई पड़ी उस समय में ऐसा माना जाता था कि एक के बाद आकाश से घंटियों की आवाज आनी चाहिए जब तक घंटियां नहीं बस्ती तब तक यह को पूरा नहीं माना जाता था।  आगे पढ़े...


2 कहानियाँ - बिल्ली, चूहा और शेर की कहानी

किसी बाग में एक चुहिया रहती थी। उसने आम के एक पेड़ के नीचे अपना बिल बनाया हुआ था। बिल में चुहिया के साथ उसके पाँच बच्चे भी रहते थे, जिनमें चार चूहे थे और एक चुहिया। पाँचों बच्चे अभी छोटे थे। वे बिल से बाहर नहीं निकलते थे। उनकी माँ रोज़ पेड़ से आम कुतर कर लाती थीं और उन्हें खिलाती थी। आगे पढ़े....


 बच्चे कहानी सुनने के लिए तैयार हो जाए यह कहानी दो मित्रों की है जिनके नाम थे धर्म बुद्धि और पाप बुद्धि वह किसी नगर में रहते थे। एक बार पाप बुद्धि के मन में आया क्यों ना अपने दोस्त धर्म बुद्धि के साथ दूसरे देश में जाकर पैसा कमाया जाये । बाद में किसी न किसी तरीके से उसका सारा धन धोखा करके हड़प लूँगा और मैं अपना पूरा जीवन सुख चैन से बिताऊ आगे पढ़े...


बच्चों आज हम तुम्हें जादुई जंगल की कहानी सुनाने जा रहे हैं। एक लड़की थी जिसका नाम मुनमुन था वह अपने परिवार में अपने पापा के साथ रहती थी उसके पापा दर्जी थे लेकिन वह ज्यादा पैसे नहीं कमा पाते थे। फिर भी वो खुशी खुशी रहते थे आगे पढ़े ...




लालच बुरी बला हैं Hindi Stories

किसी गांव में एक ही किराने की दुकान थी। दुकानदार का नाम था बबलू। 
वह चावल बेचता था। एक औरत आई बोली बबलू भैया चावल क्या भाव दे रहे हो तो बबलू ने कहा ₹15 किलो और ₹20 किलो। तो औरत बोली भैया सस्ते वाले चावल दो इतने महंगे चावल ले गए तो गुजारा कैसे होगा तो बबलू ने कहा आगे पढ़े ...



बच्चों की 3 शिक्षाप्रद कहानियाँ (Shikshaprad Kahaniyan)

समय का सदुपयोग जो करता है उसी व्यक्ति को समय के अच्छे परिणाम मिलते हैं। ऐसा ही हुआ जब सोनू और वाणी  के एनुअल एग्जाम आने वाले थे।  वाणी बहुत ही मेहनती और समय का सदुपयोग करने वाली बच्ची थी। जबकि उसका भाई सोनू बहुत ही लापरवाह और शैतान बच्चा था हर काम कल पर डालता था  आगे पढ़े...

बच्चों राजकुमारी परियों की कहानियां अपने बहुत सुनी होगी लेकिन कभी मेंढक और मेंढकी की कहानी सुनी है तो आज हम आपको सुनाएंगे मेंढक और मेंढक की कहानी। तो चलो शुरू करते हैं एक बार एक मेंढक और उसकी पत्नी मेंढकी की कुए के अंदर पानी में खेल रहे थे। तभी कुए पर एक पनिहारी आई। आगे पढ़े...



घमण्डी जादुई पेंटिंग की कहानी Jadui Kahaniyan


जादुई लिपस्टिक की कहानी Jadui Kahani


Hindi Stories - बेबी का मेकअप चोर और खजाना


बच्चों की जादुई कहानियाँ Magical Hindi Stories


बच्चों की मजेदार कहानियाँ Hindi Stories with images


Hindi Stories - तितली, मुर्गी और चींटी की 3 कहानियाँ


Hindi Kahani - घमंडी साँप और संगठन का बल


आलसी बंदर Baccho Ki Kahaniyan


दो तितलियाँ - फूलझरी और लालपरी की कहानी


सोनू और मोनू खरगोश की कहानी


Hindi Story - भोड़िये का जाल की कहानी


पड़ोसी का धर्म - तोते और मैना की कहानी


कालू घोड़े की कहानी - Baccho ki kahani - 1
 

Delivered by FeedBurner